जीवाश्म ईंधन की हानियां-
x

जीवाश्म ईंधन की हानियां-

1-जीवाश्म ईंधन की परिभाषा-

जीवाश्म ईंधन (फॉसिल फ्यूल) ऊर्जा के नवीकरणीय स्रोत नहीं हैं। ये सीमित मात्रा में ही उपलब्ध है। मरे हुए जानवर और पेड़-पौधों के अवशेष लंबे समय में इस तरह के इंधन में बदल जाते हैं। यह प्रक्रिया पूरी होने में लाखों साल लगते हैं। इसका उपयोग बहुत संयम से करने की जरूरत है, नहीं तो ये पूरी तरह समाप्त हो जाएंगे। पेट्रोलियम उत्पाद, कोयला और प्राकृतिक गैस जीवाश्म ईंधन के उदाहरण हैं।

जीवाश्म ईंधन की हानियां-
x
जीवाश्म ईंधन की हानियां-

2-जीवाश्म ईंधन का महत्व-

एक बार इसका उपयोग करने के पश्चात इसे दोबारा प्राप्त नहीं किया जा सकता है। इसके निर्माण के लिए बहुत अधिक तापमान और दाब की आवश्यकता होती है। जिसे मानव द्वारा बना पाना वर्तमान में असंभव है।

क्योंकि यह ईंधन प्राकृतिक रूप से ही बनी है। साथ ही इसके निर्माण में लाखों वर्षों का समय भी लग गया था। इस कारण इसका पुनः निर्माण और उतने बड़े क्षेत्र का लाखों वर्षों तक अधिक तापमान और दाब में रखने में अधिक पैसे लगेंगे।

इसके स्थान पर यदि अक्षय ऊर्जा का उपयोग किया जाता है तो उसमें इससे कम लागत में ऊर्जा मिल जाती है। लेकिन यह ऊर्जा वर्तमान में बहुत महत्वपूर्ण कार्यों में किया जाता है। इस कारण इसका संरक्षण करना अधिक आवश्यक है

जीवाश्म ईंधन की हानियां-
x
जीवाश्म ईंधन की हानियां-

3-कोयला की कहानी-

लगभग 300 मिलियन साल पहले पृथ्वी निचले आर्द्रभूमि क्षेत्रों में घने जंगलों था. प्राकृतिक प्रक्रियाओं के कारण, बाढ़ की तरह, इन जंगलों मिट्टी के नीचे दब गया. अधिक मिट्टी उन पर जमा के रूप में, वे संकुचित थे.

वे गहरे और गहरे डूब गया का तापमान भी बढ़ गई. उच्च दबाव और उच्च तापमान के तहत, मृत पौधों धीरे कोयला करने के लिए बदल गया. कोयला मुख्य रूप से कार्बन होता है,

जैसा कि कोयले में मृत वनस्पति के रूपांतरण की धीमी प्रक्रिया carbonisation कहा जाता है. यह वनस्पति के अवशेष से गठन किया गया था, कोयला भी एक जीवाश्म ईंधन कहा जाता है. एक कोयले की खान में छवि में दिखाया गया है.

4-जीवाश्म ईंधन के फायदे व नुकसान-

जीवाश्मों (कोयला, गैस) के उपयोग से जलने वाले ईंधन के नुकसान पर लंबे समय से बहस चल रही है। हालांकि इकोनॉमिक्स इसके फायदे गिना रहे हैं पर पर्यावरण पर इसके विपरीत प्रभाव पड़ रहे हैं।

free online mock test

जीवाश्म ईंधन प्रकृति से मिलने वाले संसाधन हैं जैसे कोयला, तेल (गैसोलीन और डीजल ईंधन सहित) जो सदियों से हमारी आधी से ज्यादा पृथ्वी के लोगों के लिए एनर्जी की कमी को पूरा कर रहा है। लेकिन इनसे पर्यावरण पर विपरीत प्रभावों के साथ-साथ ग्लोबल वार्मिंग भी चरम पर पहुंच गई है।

लेकिन फिर भी जीवाश्म ईंधन मानव जीवन के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है तो आइए जानते हैं इनके क्या-क्या फायदे और नुकसान है।

ये ईंधन सस्ते होते हैं-

जीवाश्म ईंधन आमतौर पर बड़ी मात्रा में पाए जाते हैं इसलिए आसानी से उपलब्ध होते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *