भारत के द्वीप समूह-
x

भारत के द्वीप समूह-

1-अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह

अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह’ बंगाल की खाड़ी में अवस्थित है। यह लगभग 572 छोटे-बड़े द्वीपों से मिलकर बना है।

मुख्यत:ये द्वीप समुद्र में जलमग्न पर्वतों के भाग हैं। कुछ द्वीपों की उत्पत्ति ज्वालामुखी क्रिया से भी जुड़ी है।

10° उत्तरी अक्षांश (10° चैनल) अंडमान द्वीप को निकोबार द्वीप से अलग करता है

अंडमान निम्नलिखित द्वीपों का समूह है-

उत्तरी अंडमान

मध्य अंडमान  

दक्षिणी अंडमान

लिटिल अंडमान

free online mock test
भारत के द्वीप समूह-
x
भारत के द्वीप समूह-
  • अंडमान एवं निकोबार की राजधानी ‘पोर्ट ब्लेयर’ है जो दक्षिणी अंडमान द्वीप पर स्थित है। यहीं पर प्रसिद्ध ‘सेल्यूलर जेल’है।
  • कोको स्ट्रेट ,अंडमान (उत्तरी अंडमान)के उत्तर में स्थित है, जो अंडमान को म्याँमार के ‘कोको द्वीप समूह’ से अलग करती है।
  • दक्षिणी अंडमान एवं लिटिल अंडमान के बीच ‘डंकन पास’ पाया जाता है।
  • मध्य अंडमान के पूर्व में ‘बैरन द्वीप’ स्थित है जो भारत का एकमात्र सक्रिय ज्वालामुखी’है, जबकि उत्तरी अंडमान के पूर्व में स्थित ‘नारकोंडम’ एक सुषुप्त ज्वालामुखी द्वीप है।
  • निकोबार भी कई द्वीपों का समूह है, जैसे-
    • कार निकोबार  
    • लिटिल निकोबार
    • ग्रेट निकोबार
  • 6 डिग्री चैनल ग्रेट निकोबार को ‘सुमात्रा’ से अलग करता है।
  • ग्रेट निकोबार द्वीप भौगोलिक रूप से इंडोनेशिया के सुमात्रा द्वीप के सबसे निकट अवस्थित भारतीय क्षेत्र है।
  • भारत का दक्षिणतम बिंदु ‘इंदिरा पॉइंट’ है, जो ग्रेट निकोबार के दक्षिण में स्थित है। (2004 की सुनामी के कारण यह जल में डूब गया है)।
  • इंदिरा पॉइंट का अन्य नाम ‘पिगमेलियन पॉइंट’है।
  • अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह की सर्वोच्च चोटी ‘सैडल पीक‘ है, जो उत्तरी अंडमान में स्थित है तथा ‘माउंट थूलियर ‘, अंडमान एवं निकोबार की दूसरी सबसे ऊँची पर्वत चोटी है जो’ग्रेट निकोबार द्वीप’पर स्थित है।
  • यहाँ ‘जारवा’ ‘शॉम्पेन’आदि प्रमुख जनजातियों के लोग आज भी अपने आदिम स्थिति में जीवनयापन करते हैं।
  • वर्ष 2014 के 16वीं लोकसभा चुनाव में पहली बार शॉम्पेन जनजाति ने मतदान किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *