शरीर की सुरक्षा-

सुरक्षा के प्रकार-

सुरक्षा तीन प्रकार की होती हैं-

1-शरीर की सुरक्षा

free online mock test

2-कार्य की सुरक्षा

3-मशीन, औजार एवं उपकरण की सुरक्षा

1-शरीर की सुरक्षा-

शरीर की सुरक्षा का अर्थ उन सुरक्षा से है जिनके द्वारा हम अपने आप को कार्यशाला में कार्य करते समय किसी भी दुर्घटना से बचा सकते हैं। इसके लिए निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना चाहिए-

शरीर की सुरक्षा-
शरीर की सुरक्षा-
  1. मशीन पर कार्य करते समय ढीले कपड़े नहीं पहने चाहिए।
  2. किसी चलती हुई मशीन पर कार्य करते समय उसके पुर्जो जैसे-बेल्ट आदि को ना छुएं।
  3. यदि किसी मशीन के घूमने वाले पुर्जो का कवर लगा है। तो चलती मशीन में कबर को न हटाए।
  4. चलती हुई मशीन मैं तेल व ग्रीस नहीं देना चाहिए।
  5. बैटरी को उठाते हुए रखते समय इसके पानी से अपने कपड़ों को बचा कर रखें क्योंकि इसमें तेजाब मिला होता है।
  6. हाथ से प्रयोग होने वाले औजारों पर तेल या ग्रीस आदि की चिकनाई नहीं होनी चाहिए अन्यथा काम करते समय औजार शिल्प हो सकते हैं जिससे चोट लग सकती है।
  7. किसी भी मशीन पर कार्य करने से पहले उस मशीन के बारे में पूर्ण जानकारी होनी चाहिए।अन्यथा गलत तरीके से प्रयोग करने से दुर्घटना हो सकती है।

2-कार्य की सुरक्षा-

कार्य की सुरक्षा का अर्थ मरम्मत की जाने वाली मशीन तथा उसकी भागों की सुरक्षा से है।इसके लिए निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना चाहिए-

कार्य की सुरक्षा-
कार्य की सुरक्षा-

1-कार्यशाला में तकनीकी कार्य शुरू करने से पूर्व कार्य से संबंधित पूरी प्लानिंग करनी चाहिए।
2-भारी जाब को मशीन पर बांधने के लिए पर्याप्त अवस्था होनी चाहिए।
3-यदि कोई नया पुर्जा तैयार करना है या किसी पुर्जा को ठीक करना है। तो उसके लिए सबसे पहले उसकी ड्राइंग ऑपरेशन से तैयार करनी चाहिए। तथा उसी क्रम में कार्य करना चाहिए।
4-जाब कटिंग करते समय अधिक गहरा कट नहीं लगना चाहिए।

3-मशीन, औजार एवं उपकरण की सुरक्षा-

मशीनों के उत्पादन वह उसकी किसी भाग को बचाने अथवा उनकी मरम्मत करने के लिए विभिन्न प्रकार की संक्रियाएं करनी पड़ती है। जिसके लिए विभिन्न प्रकार के औजार वह मशीनें काम में ली जाती है।आ जा रहा हूं वह मशीनों की सुरक्षा का अर्थ सावधानियों से है जिन को ध्यान में रखकर कार्य करने से वह जा रहा हूं वह मशीनों की सुरक्षा हो सके।

मशीन, औजार एवं उपकरण की सुरक्षा
मशीन, औजार एवं उपकरण की सुरक्षा

1-फाइलिंग के लिए प्रयुक्त फाइल पर चिकनाई नहीं होनी चाहिए।
2-किसी भी मशीन को निर्धारित क्षमता से अधिक लोड पर कार्य नहीं करना चाहिए।
3-चलती हुई मशीन से किसी कारणवश विद्युत आपूर्ति बंद हो जाती है तो मशीन का स्विच बंद कर देना चाहिए।
4-चलती हुई मशीन पर जॉब की नाप नहीं लेनी चाहिए।
5-छैनी का प्रयोग करते समय उसके हेड के भी चोट लगने चाहिए अन्यथा छेनी हेड फैल जाएगा।
6-जो मशीन मरम्मत योग्य है उससे बिना मरम्मत किए कोई कार्य नहीं करना चाहिए अन्यथा हो सकता है मशीन ज्यादा खराब हो जाए अथवा कोई दुर्घटना भी हो सकती है।
7-जिन मशीनों व हजारों से कार्य लिया है उन्हें कार्य करने के बाद साफ करने यथा स्थान रखना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *