chapter-3 परमाणु एवं अणु-
x

chapter-3 परमाणु एवं अणु-

अध्याय के अंतर्गत दिए गए प्रश्न एवं उनके उत्तर-

प्रश्न 1. रासायनिक सूत्र का क्या तात्पर्य है।
उत्तर: रासायनिक सूत्र,अणु में उपस्थित तत्वों के प्रतीकों के संदर्भ में अणु के उनके संगठन को निरूपित करता है।

प्रश्न 2. डाल्टन के परमाणु सिद्धांत का कौन सा अभिग्रहित द्रव्यमान के संरक्षण के नियम का परिणाम है।
उत्तर:” परमाणु अविभाज्य सूक्ष्म कण होते हैं। जो रासायनिक अभिक्रिया में ना तो सृजित होते हैं, ना ही उनका विनाश होता है।”डाल्टन के परमाणु सिद्धांत का यह अभिग्रहित द्रव्यमान के संरक्षण नियम का परिणाम है।

free online mock test

प्रश्न 3. एक परमाणु को आंखो द्वारा देखना क्यों संभव नहीं होता है?
उत्तर: परमाणु का आकार अत्यंत सूक्ष्म होने के कारण इसे आंखो द्वारा देखना संभव नहीं होता है।

प्रश्न . एक अभिक्रिया में 5.3g सोडियम कार्बोनेट एवं 6.0g एथेनॉइक अम्ल अभिकृत होते हैं। 2.2g कार्बन डाइऑक्साइड, 8.2g सोडियम एथेनॉएट एवं 0.9g जल उत्पाद के रूप में प्राप्त होते हैं। इस अभिक्रिया द्वारा दिखाइए कि यह परीक्षण द्रव्यमान संरक्षण के अनुरूप है।सोडियम कार्बोनेट + एथेनॉइक अम्ल → सोडियम एथेनॉएट + कार्बन डाइऑक्साइड + जल

उत्तर- अभिकारकों का द्रव्यमान = सोडियम कार्बोनेट का द्रव्यमान + एथानोइक अम्ल विलयन का द्रव्यमान= (4.2 + 10)G = 14.2 Gउत्पादों का द्रव्यमान = सोडियम एथेनॉएट + कार्बन डाइऑक्साइड= (12 + 2.2)G = 14.2 Gअत: अभिकारकों का द्रव्यमान = उत्पादों का द्रव्यमानअत: यह द्रव्यमान के संरक्षण के नियम के साथ सहमति है।

प्रश्न 4. निम्न यौगिकों के आण्विक द्रव्यमान का परिकलन कीजिए:

उत्तर:H2, O2, Cl2, CO2, CH4, C2H6, C2H4, NH3, CH3OHउत्तर- H2 का आणविक द्रव्यमान = 2 × 1 = 2uO2 का आणविक द्रव्यमान = 2 × 16 = 32uCl2 का आणविक द्रव्यमान = 2 × 35.5 = 71 UCO2 का आणविक द्रव्यमान= 12 + 2 × 16 = 44 UCH4 का आणविक द्रव्यमान = 12 + 4 × 1 = 16 UC2H6 का आणविक द्रव्यमान = 2 × 12 + 6 × 1 = 30uC2H4 का आणविक द्रव्यमान= 2 × 12 + 4 × 1 = 28uNH3 का आणविक द्रव्यमान = 14 + 3 × 1 =17 UCH3OH का आणविक द्रव्यमान = 12 + 4 × 1 + 16 = 32 U

लघु उत्तरीय प्रश्न-

प्रश्न 1.0 G कार्बन 8.00 G ऑक्सीजन में जल कर 11.00 G कार्बन डाइऑक्साइड निर्मित करता है। जब 3.00 G कार्बन को 50.00 G ऑक्सीजन में जलाएँगे तो कितने ग्राम कार्बन डाइऑक्साइड का निर्माण होगा ? आप का उत्तर रासायनिक संयोजन के किस नियम पर आधारित होगा ?

उत्तर- क्योंकि 3.0g कार्बन 8.00g ऑक्सिजन में जलकर 11.00g ( 3.00 + 8.00 ) कार्बन डाइऑक्साइड निर्मित करता है, अत: 3.0g कार्बन को 50.00g ऑक्सीजन में जलाने पर ( 3.0 + 50.00 ) = 53g कार्बन डाइऑक्साइड प्रप्त होगीlयह स्थिर अनुपात के नियम पर आधारित हैl

प्रश्न 2 .किस में अधिक परमाणु होंगे : 100 G सोडियम अथवा 100 G लोहा (Fe)? (Na का परमाणु द्रव्यमान = 23 U, Fe का परमाणु द्रव्यमान = 56 U)

उत्तर – सोडियम (Na) का परमाणु द्रव्यमान = 23 Uतो, सोडियम (Na) का ग्राम परमाणु द्रव्यमान = 23 Gचूँकि 23 G सोडियम (Na) में परमाणुओं की संख्या = 6.022 × 1023 Gइस प्रकार 100 G सोडियम (Na) में परमाणुओं की संख्या = 6.022 × 1023/23×100= 2.6182 × 1024लोहे (Fe) का परमाणु द्रव्यमान = 56 Uतो, लोहे (Fe) का ग्राम परमाणु द्रव्यमान = 56 Gचूँकि 56 G लोहे (Fe) में परमाणुओं की संख्या = 6.022 × 1023 Gइस प्रकार 100 G लोहे (Fe) में परमाणुओं की संख्या = 6.022 × 1023/56×100 = 1.0753 × 1024इस प्रकार 100 G सोडियम (Na) में लोहे (Fe) की तुलना में अधिक परमाणु होंगे|

अति लघु उत्तरीय प्रश्न-

प्रश्न 1. सापेक्षता के सिद्धांत का प्रतिपादन किस वैज्ञानिक ने किया।

उत्तर: सापेक्षता के सिद्धांत का प्रतिपादन ऑस्टिन ने किया।

प्रश्न 2. यदि कार्बन परमाणुओं के एक मोल का द्रव्यमान 12 G है तो कार्बन के एक परमाणु का द्रव्यमान क्या होगा?

उत्तर-कार्बन के एक मोल में परमाणुओं की संख्या = 6.022 × 1023

कार्बन के एक मोल का द्रव्यमान = 12 G
तो, कार्बन के एक परमाणु का द्रव्यमान = 12 ÷ (6.022 × 1023) = 1.9926 × 10-23 G

1-डाल्टन के परमाणु सिद्धांत का कौन सा अभिग्रहित द्रव्यमान के संरक्षण के नियम का परिणाम है।

उत्तर:” परमाणु अविभाज्य सूक्ष्म कण होते हैं। जो रासायनिक अभिक्रिया में ना तो सृजित होते हैं, ना ही उनका विनाश होता है।”डाल्टन के परमाणु सिद्धांत का यह अभिग्रहित द्रव्यमान के संरक्षण नियम का परिणाम है।

2-रासायनिक सूत्र का क्या तात्पर्य है।

उत्तर: रासायनिक सूत्र,अणु में उपस्थित तत्वों के प्रतीकों के संदर्भ में अणु के उनके संगठन को निरूपित करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *