अभ्यास-7-निंयत्रण-और-समन्व
x

अभ्यास-7 निंयत्रण और समन्वय-

1.प्रतिवर्ती क्रिया तथा टहलने के बीच क्या अंतर है-
उत्तर-प्रतिवर्ती क्रिया मस्तिष्कके मेरुरजू हिररो द्वारा नियंत्रित की जाती है पतन्तु टहलना मस्तिष्क द्वारा सोची समझी क्रिया है प्रतिवर्ती क्रिया में बहुत कम एमी क्गता है परन्तु टहलना में सुचना को पेशियों तक पहुँचने में काफी समय लगता है।

2.दो तंत्रिका कोशिकाओं (न्यूरॉन) के मध्य अंतर्ग्रथन । सिनेप्स) में क्या होता है-
उत्तर-अतर्गधन दो तंत्रिका कोशिकाओं के बीच में छोटा खाली स्थान होता है विद्युतीय तरंगो के रूप में आने वाला तंत्रिका आवेग एक रसायन को स्ववित कृत है जो माली स्थान की दरार में आ जाता है इसी प्रकार अंतर्गथन को पार कर ये रसायन अगली तंत्रिका कोशिका में पहुंच जाते है।

3.मस्तिष्क का कौन सा भाग शरीर की स्थिति तथा संतुलन का अनुरक्षण करता है
उत्तर-पश्च मस्तिष्क का अनुमस्तिष्क ।

4-हम एक अगरबत्ती की गंध का पता के से लगाते हैं।
उत्तर-विभिन्न अंगो में सुचना पाने के लिए मस्तिष्कमें कुछ केन्द्र होते है। जो अग्रमस्तिष्क में उपस्थित होते है।गंध के लिए भित्तीय पालि होती है।

5.प्रतिवर्ती क्रिया में मस्तिष्क की क्या भूमिका है
उत्तर प्रतिवर्ती क्रिया मस्तिष्कके नियंत्रण में नहीं होती है खवित प्रतिवर्ती क्रियाएँ मेरुरज्जू द्वारा नियंत्रित की जाती है। मस्तिष्क प्रतिवर्ती क्रिया में होने वाले कार्य की सुचना अपने अंदर एकत्रित कर लेता है।

6.पादप हॉर्मोन क्या हैं
उत्तर पादप अपने विभिन्न भागों से कुछ महत्वपूर्ण रसायन स्ववित करते है जो पादपो की वृद्धि तथा अन्य क्रियाओं को नियंत्रित करते है उन्हें पादप हॉर्मोन कहते है।

7.छुई-मुई पादप की पत्तियों की गति, प्रकाश की ओर प्ररोह की गति से किस प्रकार भिन्न है
उत्तर छुई-मुई पादप की पत्तियों की गति, प्रकाश की ओर प्ररोह की गति से भिन्न है कयोकि प्रकाश व प्ररोह गति अनुवर्तन गति होती है जो ऑकिस हॉर्मोन द्वारा नियत्रित होती है । परन्तु छुई-मुई पादप की पत्तियों छूने के कारण फैलतीब निकुड़ती है जो प्रकाश से नियंत्रित नहीं होती है।

8.जलानुवर्तन दर्शन के लिए एक प्रयोग की अभिकल्पना कीजिए।
उत्तर
जलानुवर्तन दर्शाने के लिए प्रयोग – एक पोधा ले उसे गमले में उगाए उस की मिट्टी एक ओर से गीली तथा दूसरी ओर से सुखी होनी चाहिए कुछ दिनों बाद उसका परिक्षण करने पर हम पाएगे की पौध की जड़े जलीय मिट्टी की ओर गतिशील होती है की इस अभिकल्पना से हम पाते है की जडो में घनात्मक जलानुवर्तन होता है।

free online mock test

9.जंतुओं में रासायनिक समन्वय कैसे होता है।
उत्तर
-जन्तुओं में विशेष ग्रथिवे कुछ हॉर्मोन स्ववित करती है ये हॉर्मोन ही रासायनिक समन्वय करते है।

10.आयोडीन युक्त नमक के उपयोग की सलाह क्यों दी जाती है
उत्तर-आयोडीन युक्त नमक के उपयोग की सलाह इसलिए दी जाती है फियोंकि शरीर में कार्बोहाइड्रेट ,वना तथा प्रोटीन के अपचन को थाइरोइड नियंत्रित करती है। यह ग्रंथि थाइरोक्सिन नामक हॉर्मोन सावित करती है इस ग्रंथि के लिए आयोडीन की आवश्कता होती है आयोडीन की कमी से पेंघा रोग हो जाता है।

11.जब एड्रीनलीन रुधिर में स्रावित होती है तो हमारे शरीर में क्या अनुक्रिया होती है
उत्तर
एड्रीनलीन क रक्त में स्ववित होने से हृदय तीव्रता से धड़कता है हमारी मांसपेशियों की बढ़ जाती है
तथा श्वरान दर भी बड़ जाता है

12.मधुमेह के कुछ रोगियों की चिकित्सा इंसुलिन का इंजेक्शन देकर क्यों की जाती है।
उत्तर
रक्त में बनी हुई शर्करा के नियंत्रण हेतु इंसुलिन की पड़ती है । वह हॉर्मोन इसे नियंत्रित करता है तथा यह अन्नाशय ग्रंथि द्वारा खवित होता है मुधमेह के रोगियों के इसका खाव कम होता है अत इंसुलिन का इंजेक्शन रक्त में शर्करा को नियंत्रित कर देता है।

जब एड्रीनलीन रुधिर में स्रावित होती है तो हमारे शरीर में क्या अनुक्रिया होती है

एड्रीनलीन क रक्त में स्ववित होने से हृदय तीव्रता से धड़कता है हमारी मांसपेशियों की बढ़ जाती हैतथा श्वरान दर भी बड़ जाता है

जंतुओं में रासायनिक समन्वय कैसे होता है।

जन्तुओं में विशेष ग्रथिवे कुछ हॉर्मोन स्ववित करती है ये हॉर्मोन ही रासायनिक समन्वय करते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *