1. Home
  2. /
  3. 10th class
  4. /
  5. hindi 10th
  6. /
  7. पत्र-लेखन (औपचारिक/अनौपचारिक पत्र)

पत्र-लेखन (औपचारिक/अनौपचारिक पत्र)

औपचारिक-पत्र
(क) प्रार्थना-पत्र

1.निकटवर्ती किसी पर्यटन स्थल के एक दिवसीय शैक्षिक भ्रमण हेतु अपनी कक्षा के छात्रों की ओर से अपने प्रधानाचार्य को एक प्रार्थनापत्र लिखिए।(आपका काल्पनिक नाम क ख ग है।)
उत्तर:
सेवा में,
प्रधानाचार्य,
राजकीय इण्टर कॉलेज,
कोटद्वार।
विषय: एक दिवसीय शैक्षिक भ्रमण हेतु अनुमति के लिए प्रार्थना-पत्र।
महोदय,
निवेदन इस प्रकार है कि हम कक्षा-10 के सभी छात्र एक दिवसीय शैक्षिक भ्रमण हेतु 10 सितम्बर, 2019 को तीर्थनगरी हरिद्वारा जाना चाहते हैं। यहाँ पर भ्रमण हेतु अनेक दर्शनीय स्थल पतंजलि योगपीठ, गुरुकुल विश्वविद्यालय, अनेक आश्रम और प्रसिद्ध मन्दिर स्थित है। हर की पैड़ी और गंगा आरती के दर्शन की अभिलाषा हमारे मन में बलवती हो रहती है ।तीर्थनगरी हरिद्वार के भ्रमण से जहाँ हमें अपनी संस्कृति को निकट से देखने और समझने का अवसर प्राप्त होगा, वहीं
उत्तराखण्ड के इस तीर्थ की पवित्र माटी का स्पर्श करके हम स्वयं भी धन्य हो जाएँगे। हमारे कक्षाध्यापक एवं व्यायाम शिक्षक हमारे साथ चलने की सहमति पहले ही दे चुके हैं। अत आपसे अनुरोध है कि इस शैक्षिक भ्रमण हेतु अनुमति प्रदान करने का कष्ट करें। आपकी अति कृपा होगी।
धन्यवाद सहित !
दिनांक 1 सितम्बर, 2019। कक्षा-10 के सभी छात्र
क ख ग।


2. अनौपचारिक-पत्र

(शुभकामना-पत्र)

1. आपके विद्यालय में इस वर्ष स्वतन्त्रता दिवस धूमधाम से मनाया गया।आप रा०उ०मा०वि० भरतपुर के छात्र हैं। समारोह के कार्यक्रमों का विवरणदेते हुए अपने भाई को एक पत्र लिखिए।(आपका काल्पनिक नाम क.ख.ग है )

उत्तर-

free online mock test

छात्रावास

उत्तराखंड इण्टर कॉलेज।

दिनांक 27.1.2020

प्रिय सुशान्त,

शुभाशीष!

कल हमारे विद्यालय-प्रांगण में गणतन्त्र दिवस समारोह अत्यन्त धूमधामके साथ मनाया गया। यह समारोह इतना भव्य था कि दूरदर्शन पर दिखाएजानेवाले कार्यक्रम की याद हो आई। कार्यक्रम की अध्यक्षता राज्य केउपमुख्यमन्त्री ने की। उन्होंने ही प्रात 8.00 बजे ध्वजारोहण किया और फिरउसके तुरन्त पश्चात् राज्य के पुलिस बैण्ड ने राष्ट्रगानकीधुन बजाई। इसकेपश्चात् भव्य परेड का आयोजन हुआ। इस परेड में राज्य-पुलिस के घुड़सवारदस्ते और त्वरित बल के जवानों ने उपमुख्यमन्त्री को सलामी देते हुए मोहकदृश्य उपस्थित कर दिया। विद्यालय के एन० सी० सी० के कैडेटों ने जहाँ सुन्दरपरेड की, वहीं विद्यालय के खिलाड़ी दल ने आश्चर्यजनक शारीरिक व्यायामोंका प्रदर्शन करते हुए सबको तालियाँ बजाने पर विवश कर दिया। संगीत केछात्रों ने मोहक लोकनृत्य प्रस्तुत करने के साथ राज्य के विभिन्न क्षेत्रों कीआकर्षक झाँकियाँ प्रस्तुत की। खिलाड़ी वर्ग में मुझे ध्वजवाहक बनने का गौरवप्राप्त हुआ। यदि तुम भी यहाँ उपस्थित होते तो निश्चित ही अद्भुत रोमांच काअनुभव करते। किन्तु निराश होने की आवश्यकता नहीं है, विद्यालय ने पूरेकार्यक्रम की सी०डी० भी तैयार कराई है। सी०डी० आते ही मैं उसे तुम्हारे लिएअवश्य ही भेजूंगा। शेष सब कुशल हैं और मेरी पढ़ाई भली-भाँति चल रही है।माताजी-पिताजी के श्रीचरणों में प्रणाम तथा निक्की को प्यार देना!

तुम्हारा भाई ओम प्रकाश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *