सल्फर क्या है? और सल्फर किसमें पाया जाता है

सल्फर क्या है और सल्फर किसमें पाया जाता है, सल्फर इतिहास के प्रारंभिक काल से ही ज्ञात है। नाइटर व चारकोल के साथ मिश्रित कर भारतीयों ने बारूद के रूप में सर्वप्रथम इसका उपयोग खोजा था।

सल्फर क्या है? और सल्फर किसमें पाया जाता है
सल्फर क्या है? और सल्फर किसमें पाया जाता है

सल्फर क्या है

तो दोस्तों जान लेते हैं कि सल्फर क्या है, यह प्याज, लहसुन, अंडा आदि में पाया जाता है। मुक्त अवस्था में सल्फर सिसली एवं लूसियाना में प्राप्त की जाती है। अतः इसकी निष्कर्षण के लिए अपनाई जाने वाली विधियां इन्हीं नामों से पुकारी जाती है।

सल्फर के भौतिक गुण

दोस्तो मैंने आपको बता दिया है कि सल्फर क्या है अब जान लेते हैं कि इसके भौतिक गुण और रासायनिक गुण क्या है।

  1. सल्फर ठोस, पीले रंग का, गंधहीन पदार्थ होता है जो विद्युत का कुचालक और ताप का निर्बल चालक है।
  2. यह अपरुपता प्रदर्शित करता है। यह जल में अविलेय किंतु CS₂ और तारपीन के तेल में विलेय है।
  3. सल्फर यानी गंधक को गर्म करने पर वह 112.8 डिग्री सेंटीग्रेड पर पिघलता है और हल्के पीले रंग के द्रव में बदल जाता है।
  4. 115 डिग्री सेंटीग्रेड पर इसका रंग गहरा हो जाता है तथा खुली श्रंखला वाले S₈ सूत्र की श्रंखला में परिवर्तित हो जाता है।
  5. 230 डिग्री सेंटीग्रेड पर चिपचिपा व अति गाढ़ा हो जाता है तथा यह श्रृंखलाओं में टूट जाता है जो जुड़कर अतिलंब अणु बन जाते हैं। ये लंबे अणु एक दूसरे में फंस जाते हैं। जब ताप और अधिक हो जाता है तब ये श्रृंखलाएं और अधिक टूटती है और ताप में वृद्धि के साथ श्यानता घटती है।
  6. ताप 444 डिग्री सेंटीग्रेड होने पर सूत्र S₈ के वाष्प बनते हैं, और 600 डिग्री सेंटीग्रेड पर S₄ सूत्र के अणु और फिर 2000 डिग्री सेंटीग्रेड पर मुक्त S परमाणु उत्पन्न होते हैं।

सल्फर के रासायनिक गुण

  1. गंडक वायु या ऑक्सीजन में नीली ज्वाला के साथ जलता है और डाई तथा ट्राइऑक्साइड बनाता है।
  2. क्षारो के साथ गंधक सल्फाइड और थायोसल्फेट बनाता है और सल्फर के अधिगम में पेंटासल्फाइड बनता है।
  3. यह गंधकाम्ल तथा नाइट्रिक अम्ल जैसे ऑक्सीकारक अम्ल से क्रिया करता है और उन्हें अपचयित करता है।
  4. साधारण तापक्रम पर जल का कोई प्रभाव नहीं होता है, किंतु यदि उबलते गंधक यानी सल्फर पर भाप प्रभावित की जाए तो थोड़ी H₂S बनती है।
  5. पोटेशियम नाइट्रेट, पोटैशियम क्लोरेट आदि ऑक्सिकारको के साथ यह विस्फोटक मिश्रण बनाता है।
  6. गर्म करने पर सल्फर, फास्फोरस आर्सेनिक, कार्बन तथा लोहे से क्रिया करता है।

सल्फर के उपयोग

  1. सल्फर का मुख्य उपयोग H₂S, H₂SO₄, सल्फाइड, लवण, कार्बन डाईसल्फाइड, सल्फर फ्लुओराइड आदि यौगिक बनाने में होता है।
  2. इसका उपयोग औषधि, विस्फोटक, आतिशबाजी, रंगाई उद्योग तथा दियासलाई उद्योग में भी होता है।
  3. सल्फर कीटाणु नाशक की भांति भी प्रयुक्त होता है।
  4. यह रबर को वल्कनित करने में प्रयुक्त होता है।

अंतिम निष्कर्ष– दोस्तों सल्फर क्या है यह तो आप जान गए होंगे और इसके उपयोग के बारे में भी मैंने अच्छे से आपको बताया है अगर आपको यह पोस्ट मेरी पसंद आती है तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करें और तुरंत जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन अवश्य करें जी धन्यवाद।

Read More



0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Post
Popular Post