‘आर्थिक मंदी’क्या थी?

आर्थिक मंदी- ‘आर्थिक मंदी’ एक विश्वव्यापी आर्थिक संकट का था, जो 1929 ईस्वी में प्रारंभ होकर 1933 तक चला। इस आर्थिक संकट के दुष्परिणाम समूचे विश्व को भुगतने पड़े। आर्थिक मंदी के परिणाम- विश्व के लगभग सभी पूंजीवादी देशों की अर्थव्यवस्था को गहरा आघात पहुंचा।2.आर्थिक संकट के परिणाम स्वरूप यूरोप में फासीवादी शक्तियां जोर पकड़ने […]

10th class