भारत में कोयले का वितरण-

1-कोयले का राष्ट्रीयकरण:  कोयला खनन क्षेत्र में पर्याप्त पूंजी निवेश की कमी, निजी कंपनियों द्वारा खनन के अवैज्ञानिक तरीकों को अपनाने और श्रमिकों के हितों को ध्यान में रखते हुए सरकार द्वारा निजी कोयला खदानों के राष्ट्रीकरण का निर्णय लिया गया।  इसके तहत वर्ष 1971-72  और 1973 में ‘कोककर कोयला खान (आपात प्रावधान) अधिनियम, 1971’ […]