द्विखंडन बहुखंडन से किस प्रकार भिन्न है?

द्विखंडन यह क्रिया अनुकूल परिस्थितियों में होती है। इसमें केंद्रक दो पुत्री केंद्र को मैं विभाजित होता है। इसमें केंद्रक विभाजन साथ साथ कोसा द्रव्य का बटवारा हो जाता है। सामान्यतया खांच विधि होता है। एक कोशिकीय जीव से दो संतति जीव बनते हैं। उदाहरण– अमीबा। बहुखंडन यह क्रिया सामान्यतया प्रतिकूल परिस्थितियों में होती है। […]

10th class