पारिस्थितिक तंत्र की कार्यप्रणाली।

पारिस्थितिक तन्त्र का मुख्य कार्य पर्यावरण सन्तुलन को बनाए रखना है। पर्यावरण सन्तुलन से ही इसके जैव संघटक अपना जीवन – चक्र पूरा करते हैं। निवेश और उत्पादन में सन्तुलन बनाए रखने के लिए जैव संघटक विविध ढंग से इस कार्य – प्रणाली में लगे रहते हैं। पारिस्थितिक तन्त्र की कार्य – प्रणाली की दृष्टि […]

पारिस्थितिक तंत्र कितने प्रकार के होते हैं?

वास्तव में हमारी पृथ्वी स्वयं एक ह्रदय परितंत्र है, जिसमें विभिन्न प्रकार की परितंत्र क्रियाशील रहती है। लघु स्तर पर एक गांव, एक आवासीय परिसर, एक झील, एक नदी या तालाब आदि का भी अपना परितंत्र होता है। प्रत्येक प्रकार के परितंत्र में भौतिक अवस्थाओं की विविधताएं एवं विभिन्न प्रकार के जीवो के विशिष्ट अंत […]