जीवधारियों में लैंगिक जनन-

जीव धारियों में नर तथा मादा युग्म को के सलंयन के फल स्वरुप युग्मनज से नये जीवधारी का विकास होता है निषेचन एक ही जाति के सदस्यों के मध्य होता है प्राणी सामान्यतया एक लिंगी और पौधे द्विलिंगी होते हैं 1-पौधों में लैंगिक जनन- पुष्पी पौधे में लैंगिक जनन हेतु विशेष रचनाएं बनती है इसे […]