विदेश व्यापार के मुख्य दोष(हानियां)बताइए-

विदेश व्यापार के प्रमुख दोष (हानियां) निम्नलिखित है- 1-कच्चे माल की शीघ्र समाप्ति- विदेश व्यापार के कारण निर्मित वस्तुओं/प्राथमिक वस्तुओं की मांग में अत्याधिक वृद्धि हो जाती हैं। जिससे कुछ देशों में कच्चे माल, मुख्य तो खनिज पदार्थों के भंडार शीघ्र समाप्त हो जाते हैं। 2-घरेलू उद्योगों को हानि- कभी-कभी विदेशी प्रतियोगिता घरेलू (स्वदेशी) उद्योगों […]