सरल लोलक के दोलनों में ऊर्जा का रूपांतरण-

1-सरल लोलक के दोलनों में ऊर्जा का रूपांतरण प्रारंभ मै गोलक अपनी मध्य अवस्था में विराम की स्थिति में होता है इस समय इसकी गतिज ऊर्जा शून्य होती हैं इस स्थिति में हम स्थितिज ऊर्जा को भी सोनिया मान लेते हैं। जब गोलक को मध्य अवस्था से एक और को ले जाते हैं तो इसकी […]