उत्पादकता किसे कहते हैं।
x

उत्पादकता किसे कहते हैं।

उत्पादकता-

उत्पादकता का आशय इस बात से है कि लोग कितनी उत्कृष्टता के साथ संसाधनों को जोड़कर वस्तुएँ या सेवायें उत्पादित करते हैं। देशों के लिये इसका आशय है उपलब्ध संसाधनों जैसे कच्चे माल, श्रम, कौशल, मंहगे उपकरणों, भूमि , बौद्धिक सम्पत्ति, प्रबंधन क्षमता तथा वित्तीय पूंजी से अत्यधिक उत्पादन किस प्रकार किया जाये। सही चुनाव करके, कार्य के प्रत्येक घंटे के लिये अधिक उत्पादन तथा अधिक आय प्राप्त की जा सकती है।

उत्पादकता की आवश्यकता-

आम तौर पर किसी देश की उत्पादकता जितनी अधिक होती है उतना ही अच्छा वहां के रहने का स्तर होता है। गुणवत्तायुक्त स्वास्थ्य सेवाओं तथा शिक्षा, अच्छी सड़कों तथा अन्य मूलभूत ढांचे , सुरक्षित समुदाय, जिन्हे आवश्यकता है उन लागों के लिये मजबूत सहायता और विकसित वातावरणीय मानकों से किसी भी देश के रहने के स्तर को सुधारा जा सकता है।

अच्छी उत्पादकता से प्राप्त होता है-

  1. कम औसत मूल्य – लागत में इस तरह की बचत को उपभोक्ताओं को कम कीमत के रूप में प्रदान कर सकते हैं, जिससे अधिक माँग को बढ़ावा मिलेगा, उत्पादन बढ़ेगा और रोजगार में बढ़ोतरी होगी।
  2. उन्नत प्रतिस्पर्था तथा व्यापार प्रदर्शन – उत्पादकता वृद्धि तथा इकाई की कम लागत वैश्विक बाजार में फर्मों की प्रतिस्पर्धा के निर्धारण के प्रमुख कारक हैं।
  3. अधिक लाभ जो कम्पनियां व्यवसाय की दीर्घकालीन वृद्धि के लिये दोबारा से निवेश कर सकती हैं तथा उनके लिये दक्षता में उन्नति अच्छे लाभ का स्त्रोत है।
  4. अधिक वेतन – यदि कर्मचारी अधिक दक्ष हों तो व्यापारी अधिक वेतन दे सकता है।
  5. आर्थिक वृद्धि – अधिक उत्पादकता से किसी भी देश की आर्थिक उन्नति बढ़ती है।

प्रश्न ओर अत्तर (FAQ)

उत्पादकता किसे कहते हैं।

उत्पादकता का आशय इस बात से है कि लोग कितनी उत्कृष्टता के साथ संसाधनों को जोड़कर वस्तुएँ या सेवायें उत्पादित करते हैं। देशों के लिये इसका आशय है उपलब्ध संसाधनों जैसे कच्चे माल, श्रम, कौशल, मंहगे उपकरणों, भूमि , बौद्धिक सम्पत्ति, प्रबंधन क्षमता तथा वित्तीय पूंजी से अत्यधिक उत्पादन किस प्रकार किया जाये।

Read more – खाद्य सुरक्षा से आप क्या समझते हैं?

free online mock test

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *