औद्योगिक क्रांति से क्या अभिप्राय है?
x

औद्योगिक क्रांति से क्या अभिप्राय है?

औद्योगिक क्रांति का अर्थ

औद्योगिक क्रांति से आशय उद्योगों की प्राचीन, परंपरागत और धीमी गति को छोड़कर,नई वैज्ञानिक तथा तीव्र गति से उत्पादन करने वाले यंत्रों व मशीनों का प्रयोग किया जाना है। यह क्रांति उन महान परिवर्तनों की द्योतक है जो औद्योगिक प्रणाली के अंतर्गत हुए। इस प्रकार उत्पादन के साधनों में अमूल-चूल परिवर्तन हो जाना ही औद्योगिक क्रांति है।

वास्तव में औद्योगिक क्रांति से आशय उस क्रांति से लगाया जाता है जिसने 18वीं शताब्दी के उत्तरार्ध में उत्पादन की तकनीक और संगठन में आश्चर्यजनक परिवर्तन कर दिए। यह परिवर्तन इतने प्रभावी और द्रुत गति से हुए कि इससे क्रांति कहा जाता है। औद्योगिक क्रांति ने बड़े पैमाने के उद्योगों का सूत्रपात किया इस क्रांति का श्रीगणेश इंग्लैंड से ही हुआ।

free online mock test

इंग्लैंड में सर्वप्रथम औद्योगिक क्रांति

इंग्लैंड में सर्वप्रथम औद्योगिक क्रांति प्रारंभ होने के निम्नलिखित कारण थे-

  1. इंग्लैंड में लोहे वह कोयले की अपार भंडार विद्यमान थे।
  2. इंग्लैंड को अपने उपनिवेशो से कम मजदूरी पर अधिक संख्या में मजदूर मिल गए थे।
  3. इंग्लैंड में अनेक नए अविष्कार हुए जिन्होंने औद्योगिक क्रांति को सफल बनाया।
  4. इंग्लैंड में बने माल के लिए उपनिवेश ओं में बाजार सुलभ हो जाते हैं।
    5.इंग्लैंड की पूंजी पतियों के पास पर्याप्त मात्रा में पूंजी थी अतः उन्होंने अनेक उद्योग धंधे स्थापित किए।

1.औद्योगिक क्रांति का अर्थ बताइए?

औद्योगिक क्रांति से आशय उद्योगों की प्राचीन, परंपरागत और धीमी गति को छोड़कर,नई वैज्ञानिक तथा तीव्र गति से उत्पादन करने वाले यंत्रों व मशीनों का प्रयोग किया जाना है। यह क्रांति उन महान परिवर्तनों की द्योतक है जो औद्योगिक प्रणाली के अंतर्गत हुए। इस प्रकार उत्पादन के साधनों में अमूल-चूल परिवर्तन हो जाना ही औद्योगिक क्रांति है।

इंग्लैंड में सर्वप्रथम औद्योगिक क्रांति होने के कारण क्या थे।

1.इंग्लैंड में लोहे वह कोयले की अपार भंडार विद्यमान थे।
2.इंग्लैंड को अपने उपनिवेशो से कम मजदूरी पर अधिक संख्या में मजदूर मिल गए थे।
3.इंग्लैंड में अनेक नए अविष्कार हुए जिन्होंने औद्योगिक क्रांति को सफल बनाया।
4.इंग्लैंड में बने माल के लिए उपनिवेश ओं में बाजार सुलभ हो जाते हैं।
5.इंग्लैंड की पूंजी पतियों के पास पर्याप्त मात्रा में पूंजी थी अतः उन्होंने अनेक उद्योग धंधे स्थापित किए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *