1. Home
  2. /
  3. 12th class

Category: 12th class

12th course

पारिस्थितिक तंत्र क्या है? | परिभाषा | विशेषताएं | प्रकार

पारिस्थितिकी तंत्र अपने पर्यावरण के निर्जीव घटकों के संयोजन में जीवित जीवों का समुदाय है, जो एक प्रणाली के रूप में परस्पर क्रिया करते हैं

विद्युत क्षेत्र की तीव्रता | S.I. मात्रक | परिभाषा | S.I. मात्रक

नमस्कार दोस्तों आज के इस लेख में हम आपको विद्युत क्षेत्र की तीव्रता क्या है इसकी जानकारी देने वाले हैं और विद्युत क्षेत्र की एस आई ( SI […]

प्रकृति और परिवर्तन | कक्षा-12 अपठित गद्यांश

प्रकृति के अनेक अभिकर्त्ता अपनी तरह से अपना काम करते हैं। हवा, पानी, तूफान, बादल, बिजली आदि सभी अपना काम कर रहे हैं। प्रकृति अपने दो रूपों में […]

जिंक क्या है? | जिंक के स्रोत | जिंक के फायदे

जिंक एक आवश्यक खनिज और एक ट्रेस मिनरल है, जिंक यानी की जस्ता हमारे पूरे शरीर की कोशिकाओं में पाया जाता है। एक पोषक तत्व जो आपके पूरे शरीर में पाया जाता है,

यथार्थवाद का क्या है? परिभाषा | मूल सिद्धांत | प्रमुख विशेषताएं

‘यथार्थवाद’ का अंग्रेजी रूपान्तर ‘Realism‘ है। ‘Real’ शब्द की उत्पत्ति लैटिन भाषा के ‘realis’ से हुई है तथा’ realis’ शब्द ‘res’ शब्द से बना है जिसका अर्थ है- […]

शैवाल किसे कहते हैं? | परिभाषा | लक्षण | संरचना

शैवाल, एकवचन शैवाल, प्रोटिस्टा राज्य के मुख्य रूप से जलीय प्रकाश संश्लेषक जीवों के समूह के सदस्य। शैवाल के कई प्रकार के जीवन चक्र होते हैं, और उनका आकार सूक्ष्म माइक्रोमोनास प्रजातियों से लेकर विशाल केल्प तक होता है जो लंबाई में 60 मीटर (200 फीट) तक पहुंचते हैं। उनके प्रकाश संश्लेषक वर्णक पौधों की तुलना में अधिक विविध हैं, और उनकी कोशिकाओं में पौधों और जानवरों के बीच नहीं पाए जाने वाले लक्षण हैं।

लघुबीजाणुधानी तथा गुरुबीजाणुधानी के बीच अंतर

इन दो शब्दों के बीच का अंतर यह है कि “माइक्रोस्पोरैंगियम” शब्द एकवचन है और “माइक्रोस्पोरैंगिया” शब्द बहुवचन है। “स्पोरैंगियम” एक लैटिन-आधारित शब्द है जिसका अर्थ है “एक घेरा जिसमें बीजाणु बनते हैं,” मूल शब्द “स्पोरोस” से, जिसका अर्थ है बीजाणु, और “एंजियन”, जिसका अर्थ पोत है।

लैन्थेनाइड आकुंचन क्या है? | कारण | परिणाम

लैन्थेनाइड श्रेणी में परमाणु क्रमांक बढ़ने पर परमाण्विक तथा आयनिक त्रिज्याएँ एक तत्व से दूसरे तत्व तक घटती हैं, परन्तु यह कमी अत्यन्त कम होती है। उदाहरणार्थ- Ce overline R Lu तक जाने पर परमाण्विक त्रिज्या 183 pm से 173 pm तक घट जाती है तथा यह कमी केवल 10 है।

सजीव और निर्जीव किसे कहते हैं? | परिभाषा | प्रमुख लक्षण

हम अपने आसपास कई चीजें पा सकते हैं, पहाड़ों और समुद्रों से लेकर पौधों और जानवरों तक। जिस धरती में हम रहते हैं वह कई चीजों से बनी है। इन “चीजों” को दो अलग-अलग प्रकारों में वर्गीकृत किया जा सकता है – सजीव और निर्जीव चीजे।