Cart () - ₹0
  1. Home
  2. / blog
  3. / ads-kya-hai-aids-ke-karan-lakshan-upchar-avn-niyantran-likhiye

एड्स क्या है? | कारण | उपचार

एड्स क्या है? | कारण | उपचार

हेलो दोस्तों आपका स्वागत है हमारी वेबसाइट में और आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे एड्स क्या होता है और कई जानकारियां एड्स के बारे में देंगे इसलिए आप हमारे आर्टिकल को पूरा पढ़ें और ऐसे ही आर्टिकल और पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट पर जाएं।

एड्स क्या है?

एड्स एक प्रकार का लैंगिक संचालित रोग है जो लैंगिक संबंधों के कारण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में संचालित होता है। एड्स का अर्थ है- अर्जित या प्राप्त किया हुआ, शरीर मैं रोगों से लड़ने की क्षमता/प्रतिरक्षण तंत्र, कमी,/ लक्षणों का समूह।

यौन जनित यह संक्रामक बीमारी तब पैदा होती है जब शरीर की एक रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है जिसके कारण शरीर हर तरह के संक्रमण और रोगों की चपेट में आता चला जाता है।

कैसे होता है एड्स?

एड्स एचआईवी विषाणु से होता है। एचआईवी का अर्थ है ह्युमन इम्युनोडेफिशिएंसी सिंड्रोम वायरस। एचआईवी से संक्रमित व्यक्ति को डॉक्टरी भाषा में एचआईवी पॉजिटिव कहा जाता है। मनुष्य के शरीर की श्वेत रक्त कोशिकाओं की लिंफोसाइट कोशिकाएं प्रतिरक्षी का निर्माण करके रोगाणुओं का और हानिकारक पदार्थों के विषय में प्रभाव को नष्ट करके शरीर की सुरक्षा करती है।

एड्स की उत्पत्ति

एड्स का पहला रूबी संयुक्त राज्य अमेरिका में पाया गया। वहां के हॉलीवुड अभिनेता रॉक हडसन में 1981 में इसके लक्षण पाए गए। वर्ष 1982 में इस बीमारी का नामाकरण एड्स तथा विषाणु का नाम एचआईवी वायरस किया गया जिसका श्रेया फ्रांस के चिकित्सा विज्ञानी प्रो लूक मोंटा ग्रियर और अमेरिका के प्रख्यात चिकित्सक डॉ रॉबर्ट सी गैलो को जाता है।

एड्स के प्रारंभिक लक्षण

  1. 1 माह से लगातार बुखार आना।
  2. लगातार दस्त होना।
  3. 1 माह से लगातार खांसी आना।
  4. शरीर का वजन एकाएक 10% कम होना।
  5. भूख ना लगना।
  6. रात से पसीना आना।
  7. मुंह में लगातार घांव या छाले होना।
  8. शरीर में लगातार चकते या फोड़े फुंसी होना।
  9. थकान महसूस होना।
  10. लसीका ग्रंथियों का एक से अधिक स्थान पर आकार में बढ़ना।

कैसे फैलता है एड्स?

  1. असुरक्षित यौन संबंध से
  2. एचआईवी संक्रमित रक्त से
  3. बिना उबली हुई या संक्रमित सूई से
  4. एचआईवी पॉजिटिव मां से उसके बच्चे को।

एड्स से बचाव

एड्स विश्व का सबसे खतरनाक रोग है। कलयुग का भस्मासुर है।कारगर इलाज न होने के कारण एड्स के संबंध में सही जानकारी व बचाव हुई एक उत्तम तरीका है। एप्स सभ्य समाज के लिए एक अभिशाप सिद्ध हो रही है।

एड्स के दो प्रारंभिक लक्षण बताइए।

1. एक माह से लगातार बुखार आना।
2.शरीर में लगातार चकते या फोड़े फुंसी होना।